देश में लगातार बढ़ती महंगाई के बीच आम लोग इस साल भी आस लगाए हुए हैं कि केंद्र सरकार उन्हें बजट में टैक्स के मोर्चे पर छूट की राहत दे सकती है। हालांकि, इस बारे में पिछले कई सालों में वित्त मंत्रालय की तरफ से काफी सख्ती दिखाई गई है। वित्त मंत्री की तरफ से टैक्स छूट न दिए जाने पर सवाल पूछने पर जबाव मिलता रहा कि नया टैक्स न लगाना भी टैक्स छूट ही तो है। हालांकि, इस साल चुनावों से पहले आखिरी पूर्ण बजट होने पर विशेषज्ञों की भी टैक्स छूट को लेकर उम्मीदें बढ़ी हैं। उनका कहना है कि सरकार महंगाई के बढ़ने की वजह से आम लोगों को राहत देने के तौर पर टैक्स छूट दे सकती है। इससे आम लोगों के हाथ में खर्च करने योग्य अतिरिक्त रकम आ जाएगी। टैक्स मामलों के विशेषज्ञ देवेंद्र कुमार मिश्रा का मानना है कि सरकार आम लोगों को इस बार राहत जरूर देगी।

 

6 लाख रुपये तक नहीं लगेगा कोई भी Tax

आम लोगों की पांच लाख रुपये तक की आमदनी को आगे बढ़ाकर छह लाख रुपये तक कर मुक्त (टैक्स फ्री) किया जा सकता है। सबसे बड़ी राहत बिना टैक्स छूट लिए 15 लाख रुपये की आमदनी को 20 फीसदी के दायरे में रखे जाने वाले मद में मिल सकती है। इसे बढ़ाकर 17 लाख रुपये तक किया जा सकता है।

 

Standard Deduction का भी लिमिट बढ़ेगा

इसके अलावा वेतनभोगी वर्ग के लिए स्टैंडर्ड डिडक्शन की सीमा को भी सरकार बढ़ा सकती है। इसे 50 हजार रुपये से बढ़ाकर एक लाख रुपये किया जा सकता है। साथ ही ब्याज पर टैक्स छूट 25 हजार हो सकती है।

 

 

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ. Download Gulfhindi MOBILE APP