कुवैत के आंतरिक मंत्रालय ने अब 15000 रेसिडेंसी उल्लंघन कर्ताओं को हटाने की योजना रद्द कर दी है, जो अवैध रूप से अभी तक देश में रह रहे थे। यह फैसला सरकारी मंत्रालय के बंद होने के बाद लिया गया है।

वहीं अवैध रूप से देश में रहने वाले लोगों में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनके कागजात 2 जनवरी और 29 फरवरी के बीच समाप्त हो गए हैं। कुछ समय पहले कुवैत मंत्रालय की ओर से यह खबर आई थी कि लगभग 15000 लोग जिनके निवास की समय सीमा समाप्त हो गई थी और जो लोग अवैध रूप से अभी तक कुवैत में रह रहे थे उन्हें हटाने का फैसला लिया गया था।

जहां अब अरब टाइम्स के सूत्रों के हवाले यह जानकारी मिली है कि अब इस स्थिति में संशोधन किया गया है। वहीं मंत्रालय ने यह साफ कह दिया है कि 1 जनवरी से पहले किए गए रेसीडेंसी उल्लंघन कर्ताओं को बख्शा नहीं जाएगा। इसलिए इन व्यक्तियों के लिए अपनी इच्छा से देश छोड़ना आवश्यक है।
मंत्रालय की हालिया निर्णय से कुवैत नागरिकों में पति, पत्नियों और बच्चों के पति और उनके घरेलू कर्मचारियों को भी छूट दी गई है।GulfHindi.com

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment