मशहूर मसाला कंपनी एमडीएच के तीन मसालों – मद्रास करी पाउडर, सांभर मसाला और करी मिश्रित मसाला पाउडर – पर हांगकांग में प्रतिबंध लगा दिया गया है। हांगकांग के खाद्य नियामक ने पाया कि इन उत्पादों में “एथिलीन ऑक्साइड” की मात्रा स्वीकार्य सीमा से अधिक है।

क्यों लगा प्रतिबंध?

हांगकांग के खाद्य नियामक सेंटर फॉर फूड सेफ्टी (सीएफएस) का दावा है कि इन मसालों में एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा इतनी अधिक है कि यह कैंसर जैसी घातक बीमारी का कारण बन सकती है। एथिलीन ऑक्साइड को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा ‘समूह 1 कार्सिनोजेन’ के रूप में वर्गीकृत किया गया है, जिसका अर्थ है कि यह मनुष्यों में कैंसर पैदा करने की क्षमता रखता है।

क्या है एथिलीन ऑक्साइड?

एथिलीन ऑक्साइड एक रंगहीन गैस है जिसका उपयोग अक्सर मसालों और अन्य खाद्य पदार्थों को कीटों से बचाने के लिए एक कीटाणुनाशक के रूप में किया जाता है।

एमडीएच का क्या कहना है?

एमडीएच ने अभी तक इस मामले पर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।

क्या करें उपभोक्ता?

यह सलाह दी जाती है कि यदि आपके पास इनमें से कोई भी एमडीएच मसाला है, तो आप इसका उपयोग न करें और इसे तुरंत नष्ट कर दें।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं।