निवेश की दुनिया में म्यूचुअल फंड और ETF (Exchange Traded Fund) दोनों ही लोकप्रिय विकल्प हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ETF म्यूचुअल फंड से ज्यादा मुनाफा दे सकता है? इस ब्लॉग में हम इसे आसान भाषा में समझेंगे और कुछ उदाहरणों के साथ जानेंगे।

म्यूचुअल फंड और ETF में क्या फर्क है?

म्यूचुअल फंड: यह ऐसा फंड है जिसमें कई लोग अपना पैसा लगाते हैं और यह फंड मैनेजर द्वारा अलग-अलग शेयरों या बॉन्ड में निवेश किया जाता है।

ETF: यह भी एक फंड है जिसमें कई लोग पैसा लगाते हैं, लेकिन यह स्टॉक मार्केट में शेयरों की तरह खरीदा और बेचा जाता है।

 

 

क्यों ETF म्यूचुअल फंड से ज्यादा मुनाफा देते हैं?

  1. कम खर्च: ETF में निवेश करने का खर्च म्यूचुअल फंड के मुकाबले कम होता है। इसका मतलब है कि आपके पैसे से कम कटौती होगी और आपको ज्यादा मुनाफा मिलेगा।
  2. ज्यादा आसानी से खरीदा-बेचा जा सकता है: ETF को आप स्टॉक मार्केट में किसी भी समय खरीद या बेच सकते हैं, जबकि म्यूचुअल फंड को बेचने में समय लगता है।
  3. पारदर्शिता: ETF में आपको रोजाना पता चलता है कि आपका पैसा किन-किन शेयरों में लगा है, जबकि म्यूचुअल फंड में यह जानकारी महीने या तिमाही में मिलती है।

 

उदाहरणों के माध्यम से समझें

1. Nifty 50 ETF vs. Active Mutual Fund

  • Nifty 50 ETF: यह उन 50 बड़ी कंपनियों में निवेश करता है जो Nifty 50 इंडेक्स में शामिल हैं। इसका खर्च लगभग 0.1% होता है।
  • Active Mutual Fund: यह फंड मैनेजर द्वारा चलाया जाता है और इसका खर्च लगभग 1.5% या उससे ज्यादा हो सकता है।

लाभ की तुलना: अगर Nifty 50 इंडेक्स ने एक साल में 12% का मुनाफा दिया, तो Nifty 50 ETF का मुनाफा 11.9% होगा (खर्च घटाकर)। वहीं, Active Mutual Fund का मुनाफा 10.5% होगा (खर्च घटाकर)।

 

2. Gold ETF vs. Gold Mutual Fund

  • Gold ETF: यह सोने की कीमतों को ट्रैक करता है और इसका खर्च लगभग 0.5% होता है।
  • Gold Mutual Fund: यह भी सोने में निवेश करता है, लेकिन इसका खर्च लगभग 1% या उससे ज्यादा हो सकता है।

लाभ की तुलना: अगर सोने की कीमतों ने एक साल में 8% का मुनाफा दिया, तो Gold ETF का मुनाफा 7.5% होगा (खर्च घटाकर)। वहीं, Gold Mutual Fund का मुनाफा 7% होगा (खर्च घटाकर)।

ETF में निवेश करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है क्योंकि इसमें खर्च कम होता है, इन्हें आसानी से खरीदा और बेचा जा सकता है, और इनमें पारदर्शिता भी ज्यादा होती है। इसलिए, ETF में निवेश करने से आपको म्यूचुअल फंड से ज्यादा मुनाफा मिल सकता है।

तालिका

विशेषता ETF म्यूचुअल फंड
खर्च कम (0.1%-0.5%) ज्यादा (1.0%-1.5% या अधिक)
खरीद-बेच की सुविधा आसान (स्टॉक मार्केट में) मुश्किल (रिडेम्पशन प्रक्रिया)
पारदर्शिता रोजाना जानकारी महीने या तिमाही में जानकारी
प्रबंधन अपने आप (पैसिव) फंड मैनेजर (एक्टिव)

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।