उत्तर भारत के मैदानी राज्यों में मॉनसून जल्द ही खुशखबरी लेकर आने वाला है। मॉनसून की गतिविधियों ने यह संकेत दे दिए हैं कि आने वाले दिनों में बारिश का आनंद मिलेगा।

मॉनसून की प्रगति

मौसम विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी, गंगीय पश्चिम बंगाल, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और बिहार के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। अगले चार-पांच दिनों में इन क्षेत्रों में मॉनसून के आगमन की संभावना है।

उत्तर भारत में मॉनसून का प्रवेश

मौसम विभाग के मुताबिक, मॉनसून गंगा के मैदानी इलाकों से उत्तर भारत में प्रवेश करेगा। फिलहाल उत्तर प्रदेश में गर्मी से लोग बेहाल हैं, लेकिन अगले 4-5 दिनों में लू से राहत मिलने की उम्मीद है।

भीषण गर्मी की चपेट में राज्य

उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और झारखंड में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, गंगीय पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ और ओडिशा में भी तापमान सामान्य से काफी ऊपर है।

मौसम विभाग की चेतावनी

मौसम विभाग ने बुधवार के लिए ऑरेंज अलर्ट और गुरुवार से सोमवार तक के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी गई है। अगले छह दिनों तक राजधानी दिल्ली में लू का प्रकोप जारी रहेगा। मंगलवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 43.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से चार डिग्री ज्यादा है।

कहां पहुंचा मॉनसून

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और कोंकण और गोवा में सक्रिय है। अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, तटीय कर्नाटक और मध्य महाराष्ट्र के कुछ स्थानों पर भी बारिश हो रही है।

बारिश के कारणों की जानकारी

नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, कोंकण और गोवा में अधिकांश स्थानों पर बारिश हो रही है। इन क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण लोगों को गर्मी से राहत मिल रही है।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।