सऊदी अरब ने हज के दौरान मक्का में प्रवेश या ठहरने के लिए सख्त नियम लागू कर दिए हैं। 15/11/1445 AH से 15/12/1445 AH तक मक्का में केवल परमिट धारक ही प्रवेश कर सकेंगे।

1. विजिट वीजा धारकों के लिए पाबंदी

  • विजिट वीजा का महत्व: विजिट वीजा धारक, चाहे किसी भी प्रकार का हो, हज करने के लिए मान्य नहीं होगा।
  • परमिट की आवश्यकता: हज करने के लिए एक विशेष परमिट की आवश्यकता होगी, बिना इसके मक्का में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

2. अवधि और नियम

  • तारीखें: 15/11/1445 AH से 15/12/1445 AH के बीच कोई भी विजिट वीजा धारक मक्का में प्रवेश नहीं कर सकेगा।
  • नियमों का पालन: इन तारीखों के दौरान केवल परमिट धारकों को ही प्रवेश की अनुमति होगी।

3. उल्लंघन पर कार्रवाई

  • सजा और दंड: जो कोई भी इन नियमों का उल्लंघन करेगा, उसे सऊदी अरब के कानून और निर्देशों के अनुसार दंडित किया जाएगा।
  • कानूनी कार्रवाई: बिना परमिट के मक्का में प्रवेश करने वाले पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

4. सऊदी सरकार की सख्ती

  • क्यों है जरूरी: हज के दौरान भीड़ और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए, सऊदी सरकार ने यह निर्णय लिया है।
  • आवश्यकता: हज की पवित्रता और व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह कदम उठाया गया है।

 

सऊदी अरब का यह फैसला सुनिश्चित करेगा कि हज केवल उन्हीं लोगों द्वारा किया जाए जिनके पास वैध परमिट है। विजिट वीजा धारकों को इस नियम का पालन करना होगा और हज के दौरान मक्का में प्रवेश या ठहरने के लिए आवश्यक परमिट प्राप्त करना होगा।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।