अमेरिकी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता टेस्ला ने हाल ही में यह सोच विचार किया है कि वे भारत से इंपोर्ट होने वाले उनके कंपोनेंट्स की मात्रा को दोगुना कर सकते हैं। इस बारे में सूचना भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दी है।

मंत्री ने अपने पोस्ट में बताया कि टेस्ला के सीईओ एलन मस्क और उनकी टीम के साथ हुई बातचीत में यह विचार किया गया। गोयल ने यह भी जोड़ा कि भारत टेस्ला की योजनाओं के लिए एक महत्वपूर्ण बाजार हो सकता है।

टेस्ला की इस चर्चा का मुख्य कारण यह है कि भारत सरकार ने हाल ही में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अत्यधिक प्रोत्साहन योजनाओं की घोषणा की है, और टेस्ला इसमें भाग लेने के इच्छुक हैं।

टेस्ला की इस कदम से भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग को एक बड़ा धक्का मिल सकता है, क्योंकि यह भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, यह भारत सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ अभियान को भी बढ़ावा दे सकता है।

टेस्ला ने पिछले साल भारत में अपनी कंपनी का पंजीकरण किया था और इस साल की शुरुआत में उन्होंने भारत में अपनी पहली शोरूम की घोषणा की थी। अब उनका यह कदम भारतीय बाजार में उनकी उपस्थिति को और मजबूत कर सकता है।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment