अपने कभी न कभी सड़क पर गुज़रते समय देखा होगा कि कुछ लोग रेलवे अंडरपास के नीचे खड़े है और ट्रेन गुज़रने का इंतज़ार कर रहे है। क्या अपने कभीं सोचा है की ये लोग इंतज़ार क्यों करते है?

ये कोई बड़ी चीज़ नही है और बहुत से लोगो को ये पता होगा फिर भी मैं आपसे सांझा कर देता हूं। ट्रैन में बैठे कुछ यात्री जब यात्रा कर रहे होते है तो कुछ लोग कचरा ट्रैन से कुछ बाहर फेकते है, जो अंडरपास के नीचे से निकलने वाले लोगो के ऊपर और उनके वहां पर गिर सकता है।

इसके अलावा, रेलगाड़ियों में शौचालय एवं वाशरूम से निकलने वाला अवशिष्ट और पानी, ट्रैन के खराब डिज़ाइन के कारण सीधे ट्रैन की पटरियों पर गिरता है।

इसलिए, जब ट्रेनें कस्बों और शहरों से गुजरती हैं, तो आने-जाने वाले यात्रियों और पैदल यात्रियों को ट्रेन के गुजरने तक रोक दिया जाता है ताकि उनकी गाड़िया और वे स्वच्छ रहे और किसी भी प्रकार का मल/मूत्र उनके और उनकी गाड़ियों पर न गिरे।

कृपया ध्यान दें कि यह कुछ ऐसा नहीं है जिसके माध्यम से हम भारतीय रेलवे को इसके लिए दोषी मानते हैं। इन चीजों से बचने के लिए वे निश्चित रूप से बुनियादी ढाँचे और स्वच्छता के मामले में अपने स्तर पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि इसके लिए एक लंबा रास्ता तय करना है, लेकिन खुशी की बात ये है कि इस दिशा में यात्रा शुरू हो गई है।

आशा करता हूँ आपको ये जानकारी पसंद आई होंगी। अगर जानकारी पसंद आये हो तो कृपया मुझे फॉलो जरूर करीये, क्योंकि मैं अभी internet पर नया हूँ। पढ़ने के लिए धन्यवाद।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Join the Conversation

2 Comments

Leave a comment