तिरुवनंतपुरम शहर में आज सुबह से उत्‍साह का माहौल है. शहर के लोग तिरुवनंतपुरम रेलवे स्‍टेशन की ओर जाने को बेताब हो रहे हैं. इसकी वजह राज्‍य की पहली वंदेभारत ट्रेन है, जिसे प्रधानमंत्री कुछ ही देर बाद हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे.

यह वंदेभारत ट्रेन देश की 15वीं वंदेभारत होगी. इससे पहले देश के अलग अलग राज्‍यों में 14 वंदेभारत ट्रेनों का सफल संचालन हो रहा है.

केरल की पहली वंदेभारत ट्रेन तिरुवनंतपुरम और कासरगोड के बीच चलेगी. यह ट्रेन केरल 11 जिलों को आपस में जोड़ेगी. इनमें तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, कोट्टायम, एर्नाकुलम, त्रिशूर, पलक्कड़, पठानमथिट्टा, मलप्पुरम, कोझिकोड, कन्नूर और कासरगोड शामिल हैं. यानी इन शहरों में वंदेभारत ट्रेन चलने के बाद आवागमन आसान हो जाएगा.

पीआईबी के एडीजी (रेलवे) योगेश बावेजा ने बताया कि वंदेभारत ट्रेन तिरुवनंतपुरम से कासरगोड के बीच यात्रा करने वालों को राहत देगी, इस ट्रेन से सफर कर करीब एक घंटे समय बचाया जा सकता है. ट्रेन सप्‍ताह में छह दिन चलेगी. तिरुवनंतपुरम से कासरगोड ट्रेन संख्या 20634 व कासरगोड से तिरुवनंतपुरम ट्रेन संख्‍या 20633 के रूप में आएगी. चेयरकार में कुल 914 सीटें और एग्जीक्यूटिव चेयर कार में 86 सीटें हैं. ट्रेन गुरुवार को छोड़कर पूरे सप्‍ताह चलेगी.

तिरुवनंतपुरम से कासरगोड तक का सफर 8 घंटे 5 मिनट में किया जा सकेगा. ट्रेन तिरुवनंतपुरम से सुबह 5.20 बजे रवाना होगी और दोपहर 1.25 बजे कासरगोड पहुंचेगी. यह कासरगोड से दोपहर 2.30 बजे रवाना होगी और 10:35 बजे तिरुवनंतपुरम पहुंचेगी.

यह है ट्रेन का शेड्यूल

  • तिरुवनंतपुरम- सुबह 5.20 बजे
  • कोल्लम- सुबह 6.07 बजे
  • कोट्टायम- सुबह 7.25 बजे
  • एर्नाकुलम टाउन- सुबह 8.17 बजे
  • त्रिशूर- सुबह 9.22 बजे
  • शोरनुर जंक्‍शन- सुबह 10.02 बजे
  • कोझिकोड- सुबह 11.03 बजे
  • कन्नूर- दोपहर 12.03 बजे
  • कासरगोड- दोपहर 1.25 बजे

वापसी- कासरगोड – तिरुवनंतपुरम (ट्रेन संख्या: 20633)

  • कासरगोड- दोपहर 2.30 बजे
  • कन्नूर- दोपहर 3.28 बजे
  • कोझिकोड- शाम 4 बजकर 28 मिनट
  • शोरनुर जंक्‍शन – शाम 5 बजकर 28 मिनट
  • त्रिशूर- शाम 6.03 बजे
  • एर्नाकुलम टाउन- शाम 7.05 बजे
  • कोट्टायम- रात 8 बजे
  • कोल्लम- रात 9.18 बजे
  • तिरुवनंतपुरम- रात 10.35 बजे

वंदेभारत का यहां हो रहा है सफल संचालन

देश की पहली वंदे भारत ट्रेन सबसे नई दिल्‍ली से भगवान शिव की नगरी काशी के बीच चली. यह ट्रेन फरवरी 2019 में चलाई गयी है. वहीं, दूसरी ट्रेन को भी धार्मिक नगरी से जोड़ा गया और यह ट्रेन नई दिल्ली से श्री वैष्णो देवी कटरा के बीच चली. तीसरी गांधीनगर से मुंबई के बीच चलाई गयी, चौथी नई दिल्ली से अंब अंदौरा स्टेशन हिमाचल के बीच शुरू की गयी. पांचवीं वंदेभारत को चेन्‍नई से मैसूर के बीच चलाया गया. छठीं वंदेभारत नागपुर से बिलासपुर के बीच चली. इसी तरह सातवीं वंदेभारत ट्रेन हावड़ा से न्यू जलपाईगुड़ी और आठवीं वंदेभारत सिकंदराबाद से विशाखपट्टनम के बीच शुरू की गयी. वहीं, नौंवी मुंबई से सोलापुर और 10वीं मुंबई से शिरडी,11वीं रानी कमलापति स्‍टेशन (भोपाल) से निजामुद्दीन, 12वीं, 13वीं सिकंदराबाद से तिरुपति व चेन्‍नई से कोयंबटूर, 14वीं दिल्‍ली से अजमेर के बीच चल रही है

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment