Indian Railways के पूर्व मध्य रेल पटना एवं राजेंद्रनगर टर्मिनल से खुलने वाली अपने 12 जोड़ी ट्रेनों में उन्नत और आधुनिकतम वातानुकूलित तृतीय इकोनॉमी श्रेणी का एक-एक कोच लगायेग.

  • 13237/13238 एवं 13239/13240 पटना-कोटा-पटना एक्सप्रेस में पटना से 24 सितंबर से जबकि कोटा से 25 सितंबर से बहाल हो गई हैं.
  • 12393/12394 राजेंद्रनगर टर्मिनल-नई दिल्ली-राजेंद्रनगर टर्मिनल संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 27 सितंबर से
  • नई दिल्ली से 28 सितंबर से, गाड़ी संख्या 22351/22352 पाटलिपुत्र-एसएमभीटी बेंगलुरू-पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में पाटलिपुत्र से 23 सितंबर से तथा एसएमभीटी बेंगलुरू से 26 सितंबर से, 22355/22356 पाटलिपुत्र-चंडीगढ़- पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में पाटलिपुत्र से 21 सितंबर से तथा चंडीगढ़ से 22 सितंबर से, 12355/12356 पटना-जम्मूतवी-पटना अर्चना एक्सप्रेस में पटना से 27 सितंबर से तथा जम्मूतवी से 28 सितंबर से वातानुकूलित तृतीय इकोनॉमी श्रेणी का एक-एक कोच लगेगा. 13201/13202 पटना-लोकमान्य तिलक टर्मिनस में पटना से 20 सितंबर से तथा लोकमान्य तिलक टर्मिनस से 22 सितंबर से बहाल कर दिया गया है.

इस ट्रेंनों में भी बढ़ेंगे एससी कोच

इसी तरह 12395/12396 राजेंद्रनगर टर्मिनल-अजमेर-राजेंद्रनगर टर्मिनल में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 05 अक्तूबर से तथा अजमेर से 07 अक्तूबर से, 13282/13281 राजेंद्रनगर टर्मिनल-डिब्रूगढ़-राजेंद्रनगर टर्मिनल में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 01 अक्तूबर से तथा डिब्रूगढ़ से 03 अक्तूबर से, 13246/13245 राजेंद्रनगर टर्मिनल-न्यू जलपाईगुड़ी-राजेंद्रनगर टर्मिनल में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 01 अक्तूबर से तथा न्यू जलपाईगुड़ी से 02 अक्तूबर से, 13248/13247 राजेंद्रनगर टर्मिनल-कामाख्या-राजेंद्रनगर टर्मिनल में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 02 अक्तूबर और कामाख्या से 04 अक्तूबर से, 13242/13241 राजेंद्रनगर टर्मिनल-बांका-राजेंद्रनगर टर्मिनल में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 26 सितंबर से तथा बांका से 27 सितंबर से जबकि गाड़ी संख्या 13288/13287 राजेंद्रनगर टर्मिनल-दुर्ग-राजेंद्रनगर टर्मिनल में राजेंद्रनगर टर्मिनल से 29 सितंबर से एवं दुर्ग से 01 अक्तूबर से यह सुविधा उपलब्ध हो गई हैं.

सस्ती वातानुकूलित सेवा, आठ प्रतिशत कम होगा किराया

यह सस्ती वातानुकूलित रेल यात्रा सेवा है. नए वातानुकूलित तृतीय श्रेणी इकोनॉमी का किराया नियमित वातानुकूलित तृतीय श्रेणी की तुलना में लगभग आठ प्रतिशत कम है .वातानुकूलित तृतीय श्रेणी की तुलना में नए वातानुकूलित तृतीय इकोनॉमी श्रेणी का बेस फेयर मेल/एक्सप्रेस ट्रेन के स्लीपर क्लास के किराए का 2.4 गुना रखा गया है जबकि मौजूदा वातानुकूलित तृतीय श्रेणी का बेस फेयर स्लीपर क्लास के किराए का 2.6 गुना है.

कोच में बढ़ेगी सुविधा

वातानुकूलित तृतीय श्रेणी इकोनॉमी आधुनिक सुविधाओं से लैस है, जिसमें सुगम प्रवेश द्वार, पर्सनल रीडिंग लाईट, प्रकाशमय बर्थ इंडिकेटर्स, अपर बर्थ पर चढ़ने के लिए सुविधाजनक सीढ़ी वहीं खाने-पीने के लिए खास तरह का स्नैक टेबल, दिव्यांग फ्रेंडली टॉयलट, अग्नि सुरक्षा हेतु विश्वस्तरीय मानकों का प्रावधान किया गया है. मौजूदा वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के कोचों की तुलना में वातानुकूलित तृतीय इकोनॉमी श्रेणी में बर्थ की संख्या अधिक है. इसका उद्देश्य आम लोगों को भी किफायती दर पर आरामदेह यात्रा की सुविधा देना है.

एसी-3 इकोनॉमी की विशेषताएं एकदम 1st AC के जैसे

  • एसी 3 में 72 सीटें रहती हैं। इसमें 83 सीटें होंगी।
  • इसके प्रत्येक सीट के लिए एसी वेंट दिया गया है।
  • हर बर्थ के लिए अलग-अलग रीडिंग लाइट है।
  • कोच और वाशरूम में दिव्यांगों की इंट्री के लिए व्हील चेयर है।
  • साइड बर्थ की सीट पर भी स्नैक टेबल है।
  • मिडिल और अपर बर्थ तक पहुंचने के लिए एडवांस सीढ़ी है ऑटोमेटिक बॉश बेसिन है, जिसे पैर से दबाकर इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • ऑटोमेटिक फायर डिटेक्शन सिस्टम है, आग लगने पर ट्रेन अपने आप रुक जाएगी

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment