जीएसटी काउंसिल की 48वीं मीटिंग 17 दिसंबर को संपन्न हुई. मीटिंग में कई अहम फैसले लिए गए जिसमें बिना जीएसटी के ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस पर छोटे व्यवसाई भी ऑनलाइन सेलिंग कर पाएंगे जैसे फैसले लिए गए वही बायोफ्यूल को बढ़ावा देने के लिए जीएसटी दरों में कमी की गई.

 

बायोफ्यूल पर नया जीएसटी दर.

बायोफ्यूल पर पहले 18% जीएसटी लागू किया गया था जिसे 48वीं मीटिंग के बाद बदल कर महज 5% जीएसटी स्लैब में ला दिया गया है. इस नए स्लैब से लोगों को 13% का छूट दिया गया है. बायोफ्यूल को भारत में बढ़ावा देने के लिए इस कदम को किया गया है.

 

बायोफ्यूल की जानकारी.

पेड़ पौधों जैसे गन्ना, मक्का इत्यादि से बायोफ्यूल तैयार किया जाता है जो कि पेट्रोल और डीजल की भांति गाड़ियों में इस्तेमाल किए जा सकते हैं. अभी मौजूदा समय में इसकी ब्लेंडिंग करके पेट्रोल डीजल उपलब्ध कराए जा रहे हैं. हालांकि कई ऐसे राज्य हैं जहां पर अब बायोडीजल उपलब्ध हो चुके हैं.

 

Biodiesel की जानकारी.

बायोडीजल जैविक स्रोतों से प्राप्त एक डीजल का समतुल्य इंधन है जिसे डीजल इंजनों में बिना किसी परिवर्तन के डाला जा सकता है और गाड़ियां बेहतर माइलेज के साथ कम प्रदूषण करती हैं. वही इसका दूसरा फायदा विदेश से आने वाले ऑयल इंपोर्ट में कमी लाता है. यह देश के भीतर ही तैयार किया जा सकता है.

 

पश्चिम बंगाल, गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, हैदराबाद समेत कई ऐसी जगह है जहां पर अब बायोडीजल उपलब्ध हो चुका है. यह महज ₹65 प्रति लीटर से लेकर ₹75 प्रति लीटर तक देश के अन्य अन्य बायोडीजल पंपों पर उपलब्ध है.

Emami Agrotech Limited (EAL) इस वक्त देश के सबसे बड़े बायोडीजल निर्माता है जो 350 टन बायोडीजल प्रतिदिन मैन्युफैक्चर करते हैं.

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment