दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) चौथे चरण के काम में तेजी दिखा रहा है। रिंग रोड के किनारे मजलिस पार्क से मुकरबा चौक तक चार किलोमीटर लंबा पुल रविवार को तैयार कर लिया गया है। यह जनकपुरी-आरके आश्रम कॉरिडोर का हिस्सा है।

इसके बन जाने से पश्चिमी दिल्ली से उत्तरी, दिल्ली और पूर्वी दिल्ली पहुंचना आसान हो जाएगा। डीएमआरसी का कहना है कि पुल तैयार होने के बाद इस हिस्से में ट्रैक बिछाने और विद्युतीकरण का काम किया जाएगा। अधिकारी बताते हैं कि कॉरिडोर निर्माण बहुत ही चुनौतीपूर्ण है, लेकिन बिना यातायात को प्रभावित किए निर्माण किया जा रहा है।

जनकपुरी पश्चिम और कृष्णा पार्क एक्सटेंशन के बीच 2.2 किलोमीटर भूमिगत सुरंग भी तैयार हो चुकी है। दो जून से डेरावल नगर से पुलबंगश के बीच सुरंग खोदने के लिए एक और मशीन उतारी गई है।

इन इलाकों को फायदा :

कॉरिडोर के बन जाने से सदर बाजार, पुलबंगश, घंटाघर, डेरावल नगर, अशोक विहार आजादपुर, मंगोलपुरी, पीरागढ़ी, पश्चिम विहार, केशोपुर सहित कई घनी आबादी वाले इलाकों के लोगों को लाभ होगा।

इस रूट पर सबसे ज्यादा इंटरचेंज स्टेशन होंगे

फेज-4 के तहत बनाए जा रहे तीन कॉरिडोर में सबसे ज्यादा सात इंटरचेंज स्टेशन इसी कॉरिडोर पर होंगे। इनमें आरके आश्रम, पुलबंगश, पीतमपुरा, पीरागढ़ी, मजलिस पार्क, हैदरपुर बादली मोड़ और आजादपुर हैं। सबसे अहम यह है कि आजादपुर दूसरा ऐसा इंटरचेंज स्टेशन होगा, जहां तीन अलग-अलग लाइन के लिए मेट्रो बदल सकेंगे। फेज-4 में कुल 11 नए इंटरचेंज स्टेशन होंगे।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment

अपना कमेंट दीजिए.