उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बेहद ही खूबसूरत टाउनशिप के निर्माण की तरफ अपना पहला कदम बढ़ा दिया है,  इस खूबसूरत टाउनशिप का नाम है ग्रीनफ़ील्ड  टाउनशिप अयोध्या,  नाम से ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि  यह प्रोजेक्ट कितना खूबसूरत होने वाला है,  जिसमें आवासीय भूखंड मठ आश्रम पांच सितारा होटल इंडस्ट्री वेयरहाउस कृत्रिम झील आदि सुविधाएं शामिल है।  आईए जानते हैं पूरे प्रोजेक्ट को विस्तार से

नाम है ग्रीनफील्ड टाउनशिप अयोध्या

अयोध्या, जो भगवान राम की जन्मभूमि के रूप में प्रसिद्ध है, अब एक नए रूप में विकसित होने जा रहा है। इस नवीनीकरण परियोजना की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद को सौंपी गई है। इस परियोजना का नाम ‘ग्रीनफील्ड टाउनशिप अयोध्या’ रखा गया है, जो लखनऊ-गोरखपुर राजमार्ग के दोनों किनारों पर 1407 एकड़ भूमि पर विकसित की जाएगी।

इन सुविधाओं से लैश होगा टाउनशिप

इस टाउनशिप में कृत्रिम झील, मठ, आश्रम, कॉटेज इंडस्ट्री, वेयरहाउस और पांच सितारा होटल शामिल होंगे। आवास एवं विकास आयुक्त रणवीर प्रसाद के अनुसार, नई टाउनशिप में 367 एकड़ भूमि आवासीय भूखंडों के लिए, 93 एकड़ भूमि ग्रुप हाउसिंग के लिए, 55 एकड़ भूमि मठों और आश्रमों के लिए, और 60 एकड़ भूमि विदेशी अतिथि गृहों के लिए आवंटित की गई है। इसके अलावा, 128 एकड़ भूमि कुटीर उद्योग और वेयर हाउस के लिए रखी गई है।

टावर से सीधा दिखेगा प्रभु श्री राम का भव्य मंदिर

टाउनशिप में एक ऊंचा टावर भी बनाया जाएगा, जिससे श्रद्धालु राम मंदिर का दर्शन कर सकेंगे। यह टाउनशिप गुजरात के इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (गिफ्ट-सिटी) की तर्ज पर विकसित की जाएगी। इस परियोजना का पहला चरण मठों और आश्रमों के लिए 28 भूखंडों की चिह्नित करने के साथ शुरू हो चुका है।

महत्वपूर्ण जानकारी तालिका

विशेषता विवरण
परियोजना का नाम ग्रीनफील्ड टाउनशिप अयोध्या
विकासकर्ता उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद
कुल भूमि क्षेत्रफल 1407 एकड़
आवासीय भूखंड 367 एकड़
ग्रुप हाउसिंग 93 एकड़
मठ और आश्रम 55 एकड़
अतिथि गृह 60 एकड़
कुटीर उद्योग और वेयर हाउस 128 एकड़

सामान्य प्रश्न (FAQs)

  1. ग्रीनफील्ड टाउनशिप अयोध्या का निर्माण कब तक पूरा होगा?
    • निर्माण की समय सीमा की जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।
  2. इस टाउनशिप में कौन-कौन सी सुविधाएं उपलब्ध होंगी?
    • टाउनशिप में कृत्रिम झील, मठ, आश्रम, कॉटेज इंडस्ट्री, वेयरहाउस, और पांच सितारा होटल शामिल होंगे।
  3. टाउनशिप का विकास किस मॉडल पर आधारित है?
    • यह गुजरात के इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (गिफ्ट-सिटी) की तर्ज पर विकसित की जा रही है।

Leave a comment

Cancel reply