ज्ञानवापी व्यास जी की गद्दी डीएम को सौंपने के मामले में जिला जज की अदालत में आज की सुनवाई टल गई है। जिला जज ने मामले में सुनवाई के लिए अब अगली तारिख 24 नवंबर की दी है। विश्वनाथ मंदिर के विजय शंकर रस्तोगी ने इसे आम नहीं राष्ट्रीय मसला बताते हुए लम्बी दलील रखने की बात कही है। अदालती समय कम होने के कारण अदालत ने सभी पक्षकारों की सहमति से 24 नवंबर को लंच के बाद सुनवाई की तारिख तय कर दी है।

आपको बता दें कि शैलेंद्र कुमार पाठक व्यास ने बीते 25 सितंबर को ज्ञानवापी परिसर में स्थित व्यासजी का तहखाना जिलाधिकारी को सौंपने के लिए सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट में मामला दाखिल किया था। दलील में कहा गया है कि व्यासजी का तहखाना वर्षों से उनके परिवार वालों के कब्जे में ही रहा है।

वर्ष 1993 के बाद प्रदेश सरकार के आदेश से तहखाने की ओर बैरिकेडिंग करवा दी गई थी। वर्तमान में नंदीजी के सामने स्थित व्यासजी के तहखाने का दरवाजा आमतौर पर खुला हुआ है। ऐसी हालात में अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी भी तहखाने पर कब्जा कर सकती है। इसलिए व्यासजी का तहखाना डीएम को सौंप देने की मांग की गई है।

Journalist from Noida. Covering Delhi, NCR and UP Updates.

Leave a comment

Cancel reply