Building Material new rates. भवन निर्माण सामग्रियों के भाव में एक बार फिर तेजी देखी जा रही है. इसका असर मकानों सहित अन्य कंस्ट्रक्शन निर्माण में पड़ रहा है. लागत बढ़ती जा रही है.

 

पिछले दो माह में ईंट, गिट्टी, सीमेंट के भाव में 15 से 20 प्रतिशत तक की तेजी आयी है. दो माह पहले ईंट जहां 16-18 हजार रुपये (1500 पीस) में मिल रही थी, इस वक्त इसका भाव 18-20 हजार रुपये के बीच चल रहा.

 

इसी तरह गिट्टी की कीमत 9000- 9500 रुपये (110 फुट) से बढ़ कर में 11 से 12 हजार रुपये हो गयी है. सीमेंट के दाम एक माह के अंदर 20 से 30 रुपये प्रति बोरी बढ़ गयी है. जो सीमेंट 400 रुपये प्रति बोरी बिक रही थी, उसकी कीमत 430 रुपये तक हो गयी है.

 

चार माह में फ्लाइ ऐश ईंटों के दाम बढ़े

बिहार फ्लाइ एश ब्रिक इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के महासचिव विकास कुमार सिंह ने बताया कि जो फ्लाइ एश 10 इंच ईंट 8.50 रुपये से लेकर 9.50 रुपये तक बिकती थी, वह आज 9.50 रुपये से लेकर 10.50 रुपये प्रति ईंट की दर से बिक रही है. उन्होंने बताया कि कीमत बढ़ने का मुख्य कारण फ्लाई एश एनटीपीसी से अधिसूचना के आधार पर ईंट निर्माताओं को मुफ्त में दिया जाता था, वह आज के दिनों में दाम लेकर उपलब्ब्ध कराया जा रहा है.

 

सरिया व बालू की कीमतों में 20 फीसदी तक की कमी

वहीं, राहत वाली बात यह है कि सरिया और बालू की कीमत में 20 फीसदी तक कमी आयी है. बालू की कीमत में 2000 रुपये तक की गिरावट दर्ज की गयी है. 110 फुट बालू की कीमत 8000 रुपये से घटकर 6000 से 6500 रुपये हो गया है. सरिया निर्माता संजय भरतिया ने बताया कि इस साल अप्रैल-मई के आसपास ब्रांडेड सरिया के भाव 8500 रुपये प्रति क्विंटल तक गये थे.

 

उस समय सरकार ने एक्सपोर्ट खोल दिया था. बाद में एक्सपोर्ट ड्यूटी वापस ले ली. इसके बाद सरिया के भाव नीचे आना शुरू हो गये. अक्टूबर में सरिया की कीमत 7500 रुपये प्रति क्विंटल तक गिर गयी थी. अभी 6500 रुपये प्रति क्विंटल है.

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment