कई लोगों के नाम कटे हैं राशन कार्ड से 

ऐसे कई लोग हैं जिनका नाम राशन कार्ड लिस्ट से काट दिया गया है। अब इन्हें जोड़ने की मांग चल रही है। जान कल्याण राशन संघ के संरक्षक दसरथ पासवान सहित कई कर्मचारियों ने राज्य कार्यालय यारपुर में बैठकर इस मुद्दे पर चर्चा की।

पटना में संघ ने रखी अपनी मांग 

जानकारी के लिए बता दें कि इस दौरान कई मांगें सामने आई हैं। कहा गया है कि राशन कार्ड लिंक का बहाना कर राज्य सरकार ने कई लोगों को राशन देना बंद कर दिया है। इनसे प्रावभित लोगों की परेशानियों को कम करने के लिए फिर से राशन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

कहा कर्मचारियों को भेजकर पीड़ितों का आधार कार्ड लिंक कराया जाए

इसके साथ ही खाद्य आपूर्ति विभाग से भी अपील की गई है कि वह अपने कर्मचारियों को भेजकर पीड़ितों का आधार कार्ड लिंक कराया जाए। यह भी कहा गया है कि पहले उन अधिकारियों पर कार्यवाही हो जिन्होंने बिना आधार के ही राशन बनवा उसके बाद ही गरीबों के खिलाफ कोई कदम उठाया जाए।

संघ अपनी मांगों को लेकर गंभीर 

संघ अपनी मांगों को लेकर काफी गंभीर है और कहा गया है कि अगर मांगे पूरी नहीं की गई तो 25 दिसंबर से जान जागरण अभियान चलाया जाएगा। गर्दनीबाग में 5 जनवरी को पुतला दहन किया जाएगा। संघ का कहना है कि गलत तरीके से जिसका नाम राशन वितरण से काट दिया गया है उन्हें न्याय मिलना चाहिए।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment