सऊदी अरब के द्वारा आज नया माइनिंग इन्वेस्टमेंट कानून पारित किया गया.  इसके साथ ही सऊदी अरब में सीधे और परोक्ष तौर पर दो लाख से ज्यादा नौकरियां आ गई हैं जिसकी जरूरत 2030 तक रहेगी.

अब सऊदी अरब में लगातार जियोलॉजिकल सर्वे चलते रहेंगे और इसके साथ ही पुलिस सऊदी अरब में एक्सप्लोरेशन कर कार्यक्रम भी चलते रहेगा जो घरेलू के साथ-साथ विदेशी इन्वेस्टमेंट को आकर्षित करेगा और सऊदी अरब में पाए जाने वाले खनिज और नए जियोलॉजिकल सर्वे से नए गानों के बारे में पता लगाया जाएगा और उसके निर्यात से सऊदी अरब के नए चैप्टर का  पन्ना लिखा जाएगा.

 सऊदी अरब इसके लिए पूरी तरीके से अब तैयार है और इसके लिए यही बेहतर और बड़ा फंड चौधरी सल्तनत की ओर से विभाग को जारी कर दिया गया जिसके तहत और सऊदी अरब बिल्कुल तेजी से सऊदी अरब के गर्भ में छुपे हुए अन्य प्रकार के खनिज और प्राकृतिक संपदा के बारे में जानकारी जुटा सकेगा और उनके निर्यात की रणनीति तैयार कर सकेगा.

 जियोलॉजिकल सर्वे और खदानों की खुदाई के लिए भारी संख्या में कामगारों की जरूरत होगी,  नए मशीनरी की आवश्यकता होगी और इन सब के फल स्वरुप सऊदी अरब अपने लेबर मार्केट को और बढ़ा करेगा.  इन सब के पीछे का मुख्य कारण सऊदी का विजन 2030 जिसमें वह तेल के ऊपर से अपनी निर्भरता कम करना चाह रहा है और सऊदी सल्तनत के विकास का नया अध्याय लिखना चाह  रहा है.GulfHindi.com

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment

Cancel reply