हाल ही में क्रिसमस से पहले करीब 200 यात्रियों को ले जा रहा प्लेन हजारों फीट की ऊंचाई पर हवा में एक बर्फ के बड़े से ब्लॉक का शिकार हो गया, गनिमत रही की समय रहते इसके पायलट ने इसे इमरजेंसी लैंडिंग करा सभी की जान बचा दी. वहीं क्रिसमस पर अपने घर जा रहे सभी लोगों को 50 घंटे की देरी का सामना करना पड़ा.

दरअसल डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, लंदन के गैटविक हवाई अड्डे से सेंट्रल अमेरिका के कोस्टा रिका के लिए उड़ान भरने वाला बोइंग 777 हवा में 35, 000 फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था, जब बर्फ के टुकड़े ने उसकी विंडशील्ड को टक्कर मार दी. जिसके बाद इसके पायलट ने बहादूरी और अपनी सूझबूझ से इसे कैलिफोर्निया के सैन जोस में लैंडिंग कराने में सफालता पाई. जहां इसके विंडशिल्ड को रिपेयर किया गया.

बताया जा रहा है कि फ्लाइट 23 दिसंबर की शाम को सैन जोस से गैटविक के लिए रवाना होने वाली थी, लेकिन विंडस्क्रीन की रिपेयरिंग में लगने वाले समय का मतलब था कि यात्रियों को कम से कम 50 घंटे की देरी हुई और उन्हें लंदन के लिए निकलना पड़ा. फिलहाल शुरू में यात्रियों को उनकी रात भर की यात्रा के लिए 90 मिनट की देरी की उम्मीद थी, लेकिन बाद में उन्हें सैन जोस के हवाई अड्डे के होटल में एक और रात बिताने के लिए मजबूर होना पड़ा.

जिसके बाद कई यात्री जो क्रिसमस पर अपने घरों को जाना चाह रहे थे, उन्हें काफी देरी का सामना करना पड़ा. जिसे लेकर सोशल मीडिया पर भी लोगों का गुस्सा देखने को मिला. वहीं ब्रिटिश एयरवेज के प्रवक्ता ने विंडस्क्रीन के टूटने के कारण हुई देरी के लिए यात्रियों से माफी मांगी, प्रवक्ता ने बताया कि वे तब तक विमान नहीं उड़ाएंगे जब तक उन्हें विश्वास नहीं हो जाता कि ऐसा करना पूरी तरह से सुरक्षित है.

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment

Cancel reply