दिल्ली जयपुर एक्सप्रेसवे के बाद दिल्ली से कोटा आना जाना भी आसान हो जाएगा. दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे का एक और बड़ा खंड का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है. दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य सेक्टर 65 से खलीलपुर मंडकोला में केएमपी एक्सप्रेसवे तक ग्राउंड वर्क पूरे कर दिए गए हैं और इसे अगले महीने खोल दिया जाएगा.

इस नए खंड के खुलने के साथ ही दिल्ली से कोटा तक पहुंचना और आसान हो जाएगा. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया का प्रबंधन इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण को लेकर दिन-रात कार्य में जुटा हुआ है. इस एक्सप्रेस-वे के चालू होने के साथ ही दिल्ली और मुंबई के बीच की दूरी महज 12 घंटे के भीतर पूरी की जा सकेगी.

इस क्रम में कैल गांव के मोड़ पर दिल्ली आगरा हाईवे के ऊपर से गुजर रहे कैल गांव फ्लाईओवर के दोनों हिस्सों को आपस में अब जोड़ दिया गया है जिससे कि इंटरसेक्शन और आसान हो गया है. इस एक्सप्रेस वे पर चढ़ने के लिए कई जगहों से सुपर बाईपास तैयार किए जा रहे हैं ताकि अलग-अलग शहरों के लोग इस एक्सप्रेस वे का इस्तेमाल कर दिल्ली और मुंबई पहुंच सके.

सबसे खास बात यह है कि 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ी आसानी से दौड़ा सकेंगे और विश्वस्तरीय सुविधाएं इस एक्सप्रेस वे पर मौजूद रहेंगे. सुरक्षा के लिहाज से एक को एक्सेस कंट्रोल बनाया जा रहा है.

रास्ते में आने वाले वन क्षेत्र के लिए साउंडप्रूफ टनल का निर्माण किया गया है जिससे वन्यजीवों को भी दिक्कत ना हो और लोग भी सुरक्षित यात्राएं कर सकें.

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment