पुरी के प्रसिद्ध जगन्नाथ मंदिर के अधिकारियों ने एक बड़ा निर्णय लेते हुए एक जनवरी 2024 से मंदिर परिसर में पान और गुटखा खाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। इस प्रतिबंध को लागू करने से पहले, मंदिर प्रशासन नवंबर और दिसंबर महीने में जागरूकता अभियान चलाएगा। इस अभियान का उद्देश्य मंदिर के परिसर में स्वच्छता और पवित्रता बनाए रखना है।

जुर्माने का प्रावधान और ड्रेस कोड

मंदिर प्रशासन के मुख्य प्रशासक रंजन कुमार दास ने बताया कि नियम का उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा, मंदिर प्रशासन ने पिछले महीने यह भी घोषणा की थी कि वे एक जनवरी 2024 से श्रद्धालुओं के लिए एक ‘ड्रेस कोड’ लागू करेंगे। इस निर्णय का उद्देश्य मंदिर की गरिमा और पवित्रता को बनाए रखना है।

मंदिर की पवित्रता और गरिमा की रक्षा

रंजन कुमार दास ने यह भी बताया कि मंदिर में अनुचित पोशाक में आने वाले श्रद्धालुओं को रोकने के लिए ‘सिंह द्वार’ पर तैनात सुरक्षा कर्मियों और मंदिर के अंदर प्रतिहारी सेवकों को ड्रेस कोड लागू करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस नीति का मुख्य उद्देश्य मंदिर के पवित्र और आध्यात्मिक माहौल को बनाए रखना है।

बिहार से हूँ। बिहार होने पर गर्व हैं। फर्जी ख़बरों की क्लास लगाता हूँ। प्रवासियों को दोस्त हूँ। भारत मेरा सबकुछ हैं। Instagram पर @nyabihar तथा lov@gulfhindi.com पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a comment

अपना कमेंट दीजिए.